प्रवचनों से किया गोमाता की सेवा के लिए प्रेरित

संवादसूत्र,कतलाहेड़ी:गोगामेड़ीमंदिरपरिसरमेंगोपालगोशालाकेकथावाचकनेप्रवचनोंसेगो-सेवाकेलिएप्रेरितकिया।इसदौरानआसपासकेक्षेत्रोंसेग्रामीणोंनेशिरकतकी।कथावाचकनेकहाकिघरमेंदेसीगायपालनेवगोमाताकीसेवाकरनेसेकष्टोंसेमुक्तिमिलतीहै।गायमेंदेवी-देवतावासकरतेहैं।देसीगायकेगोबरवमूत्रमेंअनमोलरत्नहोतेहैं,जोबीमारियोंकोठीककरतेहैं।प्रवचनकेबादगायकीआरतीकरप्रसादवितरितकियागया।इसअवसरपरमेजरसिंह,रामपालराणा,रामभूल,महीपाल,बलविदरराणा,भगतराम,बिमलादेवी,आरतीदेवी,सुशीला,श्यामोमौजूदरहे।