जिले में चलाया जाएगा राष्ट्रीय श्रवण जागरूकता अभियान : डीसी

जागरणसंवाददाता,करनाल:

विश्वश्रवणदिवसकोलेकरराष्ट्रीयश्रवणजागरूकताअभियानचलायाजाएगा।अभियानकेतहतजिलाप्रशासनकीओरसेग्रामपंचायतद्वाराग्रामसभाओंकाआयोजनवशिक्षणसंस्थाओं,स्वास्थ्यविभागद्वाराजागरूकतारैली,बैनर,पोस्टरतथासंबंधितविभागोंद्वाराविभिन्नकार्यक्रमोंकेमाध्यमसेबहरापननामकस्वास्थ्यस्थितिकेबारेमेंलोगोंकोजागरूककियाजाएगा।डीसीनिशांतकुमारयादवनेबतायाकितीनमार्चकोविश्वश्रवणदिवसकेअवसरपरजिलामेंआयोजितहोनेवालेकार्यक्रमोंकोलेकरसंबंधितविभागअधिकारियोंकोकार्यक्रमकोसफलतापूर्वकसम्पन्नकरवानेकेआवश्यकदिशा-निर्देशदिएगएहैं।उन्होंनेबहरापननामकस्वास्थ्यस्थितिकेबारेमेंबतायाकिभारतमेंप्रतिएकलाखकीआबादीपर291व्यक्तिऐसेहैंजोसुननेमेंअसक्षमहैंऔरगंभीररूपसेपीड़ितहैं।इनमें0से14वर्षतककीआयुकेबीचमेंएकबड़ाप्रतिशतबच्चोंकाहै।यहरोगआनुवंशिककारणों,जन्मसेजटिलताओं,कुछसंक्रामकरोगों,कानमेंलंबेसमयतकसंक्रमण,ऑटोटॉक्सिकदवाओंकेउपयोग,अत्याधिकशोरतथाउम्रबढ़नेसेहोताहै।इसरोगकेबारेमेंचिताकरनेकीबातनहींहै।इसेआसानीसेरोकाजासकताहै।उन्होंनेबतायाकिहमारेयुवाओंमेंइससमस्याकेकारणदेशकीभौतिकऔरआर्थिकस्थितिएवंउत्पादनक्षमताकोनुकसानहोरहाहै।इसलिएअपनेसमुदायमेंश्रवणबाधितऔरबहरेपनकेमामलोंकीशीघ्रपहचानकरेंऔरऐसेव्यक्तिऔरबच्चोंकोबुनियादीउपचारकेलिएप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रोंमेंभेजें।डीसीनेग्रामपंचायतोंकोनिर्देशदिएहैंकिराष्ट्रीयश्रवणजागरूकताअभियानकेलिएग्रामसभाओंकीबैठकोंमेंबहरापननामस्वास्थ्यस्थितिकेबारेमेंलोगोंकोजागरूककरें।