बैठक में सरकार की किसान विरोधी नीतियों को लेकर ज्ञापन सौंपने पर सहमति

जागरणसंवाददाता,करनाल:

भारतीयकिसानयूनियनहरियाणाकीमीटिगकिसानभवनकरनालमेंहुई।बैठककीअध्यक्षताप्रधानजीवनसिंहनेकी।बैठकमेंकिसानोंकीसमस्याओंपरविचार-विमर्शकियागयाऔरआगेकेआंदोलनकेबारेनिर्णयलिएगए।मीटिगमेंसरकारकीकिसानविरोधीनीतियोंकेबारेज्ञापनदेनेकानिर्णयलियागया।मीटिगमेंगराष्ट्रीयउपाध्यक्षसेवासिंहआर्यऔरराष्ट्रीयसलाहाकारसरदारअजीतसिंहहाबड़ीनेराष्ट्रीयसलाहाकारभागलिया।इसदौरानअन्नदाताभारतीयकिसानयूनियनकेराष्ट्रीयअध्यक्षसरदारगुरमुखसिंहभीउपस्थितरहे।दोनोंसंगठनमिलकरआगेकेआंदोलनकरने,एकदूसरेकासाथदेनेऔरकिसानोंकेहितमेंहमेशाकार्यरतरहनेकानिर्णयलिया।दोनोंसंगठनोंनेमिलकरचौधरीबलवानसिंहपाईकोकिसानयूनियनकाकार्यकारीअध्यक्षबनायागया,जोप्रदेशअध्यक्षजयकुवारकेदिशा-निर्देशअनुसारकामकरेंगे।अपनीकार्यकारिणीबढ़ानेकीभीउनकोजिम्मेदारीदीगईहै।किसानोंनेकहाहैकिसरकारलगातारकिसानविरोधीनीतियांबनातीजारहीहै।सरकारबजटआदिमेंमात्रदिखावेकेतौरपरतोबड़ीबड़ीडींगेमारतीहैं,लेकिनजोनीतिबनाईजातीहैवोकिसानोंतकनहींपहुंचपाती।किसानोंनेमांगकीकिउनकीफसलोंकेलागतकेआधारपरलाभकारीमूल्यदिएजाए।किसानोंकोकर्जमुक्तकियाजाए।किसानपेंशनयोजना18000प्रतिमाहलागूकीजाए।फसलबीमायोजनाकोकिसानहितैषीबनायाजाए।नुकसानहोनेपरतुरंतमुआवजादियाजाए।लंबितबिजलीकनेक्शनतुरंतदिएजाए।जिनकिसानोंनेविभागमेंपैसेजमाकरवाएहुएहैंऔरब्लॉकमेंकनेक्शनबंदकररखेहैं,उनकोतुरंतकनेक्शनदिएजाएं।

इसमौकेपरस.सुखासिंह,राजपाल,पालारामकैथल,राजेन्द्रसिंह,अर्जुनसिंह,छत्रपाल,गुरमुखसिंह,प्रिस,लक्खीरामफौजी,सरदारजीवनसिंह,सरदारहरजीतसिंह,सुक्खासिंहअसंध,बलवानसिंह,करताराम,जसमेरसिंह,लखपतरायशास्त्री,भीमसिंह,टेकारामऔरबलबीरसिंहमौजूदरहे।